सोमवार, 22 अप्रैल 2013

गर्मी की छुट्टी जब आये,

गर्मी की छुट्टी जब आये, 

गर्मी की छुट्टी जब आये , सब बच्चों  का मन हर्षाये!

बस्ते कुछ  दिन   दूर  रहेगें,
नाचेगें ,और  खेलेगें  कूदेगें!
पिकनिक का प्रोग्राम बनायें,

गर्मी की छुट्टी जब आये , सब बच्चों  का मन हर्षाये

रात  और  दिन,टी.वी देखेगें
जब मन हो तब,सुबह उठेगें!
अब  पापा भी ,बीच  न आयें,

गर्मी की छुट्टी जब आये , सब बच्चों  का मन हर्षाये!

नन्हे और  कोमल  हाथो  से,
प्यारी  सी , भोली  बातों  से!
 पर सेवा  का ,अलख जगायें, 

गर्मी की छुट्टी जब आये , सब बच्चों  का मन हर्षाये!
 
dheerendra singh bhadauriya

46 टिप्‍पणियां:

  1. गर्मी की छुट्टी जब आये........ बहुत सुंदर रचना.

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि-
    आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा आज मंगलवार (23-04-2013) के मंगलवारीय चर्चा --(1223)"धरा दिवस" (मयंक का कोना) पर भी होगी!
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ!
    सूचनार्थ...सादर!

    उत्तर देंहटाएं
  3. यही तो समय होता है ...जो अधिकार पूर्वक उनका होता है ...फिर बच्चे क्यों न मौज मनाएं....!!!

    उत्तर देंहटाएं
  4. मुझे भी बहुत इंतजार रहता था गर्मी की छुट्टियों का
    खूबसूरत अभिव्यक्ति
    सादर ......

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत सुन्दर..मस्ती ही मस्ती .....

    उत्तर देंहटाएं
  6. गर्मी की छुट्टियां वाह .... बहुत ही बढिया ।

    उत्तर देंहटाएं
  7. इन छुट्टियों का अपना ही मज़ा होता है ...
    लाजवाब रचना है बचपन की याद दिला डी ...

    उत्तर देंहटाएं
  8. बच्चे तो खुश हो जाते हैं , लेकिन पेरेंट्स की शामत आ जाती है। :)

    सुन्दर रचना।

    उत्तर देंहटाएं
  9. खूबसूरत और मासूम बाल रचना......
    बच्चों के शाम को खेलने कूदने का शोर सुन एक अनजानी सी
    ख़ुशी मन को छू जाती है,शुक्र है ट्यूशन से कुछ समय के लिए
    ही सही छुटकारा तो मिला!!
    और अपने बचपन से रूबरू होने का मोका तो मिला!!!!


    उत्तर देंहटाएं
  10. बहुत ही प्यारी और सुंदर सी रचना.

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  11. गर्मी की छुट्टी जब आये........ सुंदर रचना.

    उत्तर देंहटाएं
  12. नन्हे और कोमल हाथो से,
    प्यारी सी , भोली बातों से!
    पर सेवा का ,अलख जगायें-----
    गर्मी की छुट्टी जब आयें-----
    बच्चों के कोमल मन की कोमल रचना
    सुंदर सीख देती हुई
    बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  13. मिल आनन्द करें सब बच्चे,
    गर्मी की छुट्टी आयी है।

    उत्तर देंहटाएं
  14. नन्हे और कोमल हाथो से,
    प्यारी सी , भोली बातों से!
    पर सेवा का ,अलख जगायें,

    बहुत खुबसूरत बच्चों की भावनाओं का चित्रण ......

    उत्तर देंहटाएं
  15. bahut khoob
    bachpan ke din yaad dila diye aapane to
    bahut hi badhia....
    meri is website ko bhi dekhiyega
    http://www.theunpredictablegame.org/

    उत्तर देंहटाएं
  16. बहुत सुन्दर रचना ...
    गर्मी की छुट्टी जब आए
    बचपन खूब याद आए
    क्यों ना बच्चों के साथ
    हम भी बच्चे बन जायें

    उत्तर देंहटाएं
  17. सुंदर बाल रचना, बधाई। मेरे ब्लॉग पर आपका स्वागत है..........

    उत्तर देंहटाएं
  18. गर्मी की छुट्टी जब आये........ बहुत सुंदर रचना.

    उत्तर देंहटाएं
  19. खूबसूरत बाल रचना .....बचपन की याद ताज़ा हो गई

    उत्तर देंहटाएं
  20. बहुत ही शानदार और सराहनीय प्रस्तुति....
    बधाई

    जयपुर न्यूज
    पर भी पधारेँ।

    उत्तर देंहटाएं
  21. इंतजार रहता था गर्मी की छुट्टियों का सुंदर बाल रचना

    उत्तर देंहटाएं
  22. बस करीब गर्मियों की छुटियाँ ....
    बहुत सुन्दर बाल रचना.

    उत्तर देंहटाएं
  23. सुंदर कविता .... इन छुट्टियों का बच्चों को हमेशा इंतज़ार रहता है

    उत्तर देंहटाएं
  24. बहुत बढ़िया जी , मुझे भी गर्मी की छुट्टियाँ याद आ गयी ........

    उत्तर देंहटाएं
  25. कविता हम को याद दिलाये
    अपनी छुट्टी के दिन सारे ।

    सुंदर बाल कविता ।

    उत्तर देंहटाएं
  26. बचपन के दिन थे गर्मी की छुटी सब दोस्त मिलकर सुलझए एक गुँथी चिड़ियों को पानी पिलाना है सभी को अपने घर से कुछ लेके आना है कोई अपने घर से डिब्बा ले आये कोई चवाल अपनी जेब में भर लवे सब कुछ न कुछ लेके आवे सब अपने अपने लाये सामान को ज़मीन पर फलवे फिर चिड़ियों के इंतजार में पूरा दिन बितावे अगर कोई चिड़ियों इक दाना भी खावे मन को बड़ा आनंद आये

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणियाँ मेरे लिए अनमोल है...अगर आप टिप्पणी देगे,तो निश्चित रूप से आपके पोस्ट पर आकर जबाब दूगाँ,,,,आभार,