सोमवार, 19 दिसंबर 2011

महत्व .....

महत्व...

आफिस में क्लर्क का, व्यापार में संपर्क का.
जीवन में वर्क का, रेखाओं में कर्क का,
कवि में बिहारी का, कथा में तिवारी का,
सभा में दरवारी का,भोजन में तरकारी का.
महत्व है,...
ससुराल में साली का,बगीचे में माली का,
बर्तन में थाली का, कान में बाली का,
घड़ी में कमानी का, उम्र में जवानी का,
ननिहाल में नानी का अरब में पानी का,
महत्व है,...
जिले में कलेक्टर का,नेता में मिनिस्टर का,
बस में कंडेक्टर का, इंसान में करेक्टर का,
गाँव में नाई का, कोठे में बाई का,
देवर और भौजाई का,ठण्ड में रजाई का,
महत्व है,...
घर में आँगन का, दही में माखन का,
जाति में ब्राहमन का, त्योहारों में सावन,
माँ की लोरी का, गाँव की गोरी का,
राखी की डोरी का, फागुन की होरी का,
महत्व है,...
कुर्ते में जाकेट का, पैंट में पाकेट का,
खेल में क्रिकेट का, क्रिकेट में विकेट का,
फूलों में गुलाब का, KBC में जबाब का,
एकाउंट में हिसाब का, नशे में शराब का,
महत्व है,...
कंद में आलू का, सीमेंट में बालू का,
मूर्खों में चालू का, नेताओं में लालू का,
आम के आचार का, फलों में अनार का,
औरतों के सिंगार का, राज्यों में बिहार का,
महत्व है,...
जीवन में बचपन का, बचपन में लड़कपन का,
चूडियों के खनखन का, दिल में धडकन का,
अफसरों से सेटिंग का, सचिन के बैटिग का,
ट्रेन में वेटिंग का, मोबाईल से चैटिंग का,
महत्व है,...
पूजा में मंत्र का, साधुओं में संत का,
आज के जनतंत्र का, कहानी में अन्त का,
शिक्षा में संस्थान का, कलयुग में विज्ञानं का
बनावटी शान का, मेड इन जापान का,
महत्व है,...
दरगाह में मन्नत का, मरने पर जन्नत का,
खाने में पंगत का, अच्छे लोगों के संगत का,
सलमान के बाडी का,अमिताभ के दाढी का,
अहिंसा के लिए गांधी का,अन्ना के आंधी का,
महत्व है,...
ज्ञान में लाला का, माकान में ताला का
पढ़ने में शाला का, स्वागत में माला का,
गेंहूँ के आटे का, आलू में भाटे का,
जुताई में नाटे का, गाल में चांटे का
महत्व है,...
----------------
dheerendra.

75 टिप्‍पणियां:

  1. अब क्या कहें सब का महत्त्व तो आपने नता ही दिया है । प्रवाह लिये प्रभावपूर्ण रचना ।

    उत्तर देंहटाएं
  2. हर बात के महत्व की ........महत्वपूर्ण रचना

    उत्तर देंहटाएं
  3. वाह
    वाह वाह
    वाह वाह वाह
    वाह वाह वाह वाह
    वाह वाह वाह वाह वाह
    वाह वाह वाह वाह वाह वाह
    वाह वाह वाह वाह वाह वाह वाह
    वाह वाह वाह वाह वाह वाह
    वाह वाह वाह वाह वाह
    वाह वाह वाह वाह
    वाह वाह वाह
    वाह वाह
    वाह
    इसके अलावा कहने के लिये और कुछ बचता ही नहीं है।

    उत्तर देंहटाएं
  4. यह कोपी कर लिया है और अपने सभी दोस्तों को ईमेल भी कर रहा हूँ। एक बार फ़िर से वाह!

    उत्तर देंहटाएं
  5. ज्ञान में लाला का, माकान में ताला का
    पढ़ने में शाला का, स्वागत में माला का,
    गेंहूँ के आटे का, आलू में भाटे का,
    जुताई में नाटे का, गाल में चांटे का
    महत्व है,...
    ----------------

    वाह! बहुत सुन्दर महत्व बताया है आपने.

    ये भाटे और नाटे क्या होते हैं जी.

    अनुपम प्रस्तुति के लिए आभार.

    मेरे ब्लॉग की नई पोस्ट पर आपका स्वागत है.

    उत्तर देंहटाएं
  6. जाट देवता जी की वाह तो तीर की नोंक की तरह नुकीली है.

    इस पर भी कुछ लिख दीजियेगा धीरेन्द्र भाई.

    उत्तर देंहटाएं
  7. राकेश जी एक बार वाह आपके लिये भी,
    तीर की तरह बिल्कुल निशाने पर लगा है ये लेख।

    धीरेन्द्र जी राकेश जी की बात पर गौर करियेगा। प्रतीक्षा रहेगी।

    उत्तर देंहटाएं
  8. संदीप पवार जी,...पोस्ट में पधारने के लिए आभार
    राकेश जी के अनुरोध पर,....आपके लिए...

    ठण्ड में चाय का,मिलने में हाय का
    प्रेम में चाह का, कमेंट्स में"वाह"का,
    बड़ा महत्व होता है,....संदीप जी!!!!!!!!!!

    उत्तर देंहटाएं
  9. सब का महत्त्व तो आपने बता ही दिया है । कमेन्ट में कुछ न कहने लायक प्रभावपूर्ण रचना |

    उत्तर देंहटाएं
  10. महत्व ही महत्व .महत्वपूर्ण रचना..

    उत्तर देंहटाएं
  11. वाह वाह...
    बहुत बढ़िया रचना...
    एक सांस में पढ़ डाली...
    :-)
    सांस का महत्त्व भी समझ आया ..

    उत्तर देंहटाएं
  12. शब्दों के महत्व पर महत्वपूर्ण पोस्ट।

    उत्तर देंहटाएं
  13. बहुत बढ़िया लिखा है आपने हर चीज़ में महत्त्व होता है! बेहद ख़ूबसूरत और महत्वपूर्ण रचना!

    उत्तर देंहटाएं
  14. कंद में आलू का, सीमेंट में बालू का,
    मूर्खों में चालू का, नेताओं में लालू का,
    आम के आचार का, फलों में अनार का,
    औरतों के सिंगार का, राज्यों में बिहार का,
    महत्व है,...
    राजनीति में मंद मति बालक का ,प्रधान मंत्री की कुर्सी पर काग भगोड़े का ,शीर्ष महिलाओं में ,चर्च के प्रत्यारोप में सोनिया का महत्व है .खूब रचना है .

    उत्तर देंहटाएं
  15. बहुत खूब! बहुत सुंदर प्रवाहमयी रोचक प्रस्तुति...

    उत्तर देंहटाएं
  16. सभी के महत्व को अच्छी तरह से काव्य के ज़रिये समझाया आपने.वाह.

    उत्तर देंहटाएं
  17. बहुत सारी महत्वपूर्ण जानकारी मिली. क्या क्या और किसका किसका क्या क्या महत्व है. मजेदार लेखन, बधाई.

    उत्तर देंहटाएं
  18. Onlyone word for your this amazing presentation ......


    Ghazab..............!

    उत्तर देंहटाएं
  19. हर बात का महत्त्व बताती बहुत अछ्ही पोस्ट ... अब ऐसे घर कहाँ जिनमें आँगन हो ... फ़्लैट में लटके हैं त्रिशंकु की तरह

    उत्तर देंहटाएं
  20. I'm speechless! What more can I say except Vah..Vah....Vah...Vah...Vah..Vah.
    Really amazing!

    उत्तर देंहटाएं
  21. ससुराल में साली का,बगीचे में माली का,
    बर्तन में थाली का, कान में बाली का,
    घड़ी में कमानी का, उम्र में जवानी का,
    ननिहाल में नानी का अरब में पानी का,...

    जबरदस्त रचना ... गज़ब लिखा है ... इन सब चीजों का महत्व होता है ... मानो या न मानो ...

    उत्तर देंहटाएं
  22. रत्नों में पन्ना का ,भारत में अन्ना का |
    पूर्वांचल में गन्ना का , शादी में बन्ना का
    हीरो में जितेन्द्र का , नेता में धर्मेन्द्र का |
    देवता में इंद्र का , कवियों में धीरेन्द्र का ||
    महत्त्व है |

    आभार धीरेन्द्र जी वह भाई मान गये अपनी इन्ही चार पंक्तियों से आपको शुभ कामनाएं |

    उत्तर देंहटाएं
  23. सुंदर रचना और सुंदर शब्द चयन । कापी कुछ सीखने को मिलता है यहां ।

    उत्तर देंहटाएं
  24. vaah, vaah, vaah, three cheers for this kavita.padhkar maja aa gaya.

    उत्तर देंहटाएं
  25. धीरेन्द्र जी
    वाकई मजा आ गया, बहुत सुंदर

    उत्तर देंहटाएं
  26. वाह, धीरेन्द्र जी, क्या खूब लिखा है।

    उत्तर देंहटाएं
  27. धन्यवाद ,आपका मेरे ब्लॉग में आने हेतु | आपकी कविता ने जीवन तथा प्रत्येक सामाजिक पहलू के महत्व की सटीक व्याख्या की है | आभार इतनी अच्छी रचना के लिए |

    उत्तर देंहटाएं
  28. वाह।
    क्‍या बात है....
    गजब की प्रस्‍तुति।

    उत्तर देंहटाएं
  29. शानदार कविता, ध्वनिक और पढने में बहुत अच्छी ,
    एक गीत के सामान ,मैंने भी हिंदी कविता लिकना सुरु किया है ,
    आपके पधारने का आभारी रहूँगा !
    रोहित

    उत्तर देंहटाएं
  30. मेरा सौभाग्य कि कविता का विराट रूप देखने को
    मिला। टिप्पणी के लिये उचित शब्दों का चयन
    करना कठिन हो रहा है। यह कविता का कमाल
    ही है।

    उत्तर देंहटाएं
  31. बहुत महत्वपूर्ण जानकारी मिली******अनुपम प्रस्तुति के लिए आभार****

    उत्तर देंहटाएं
  32. गज़ब की प्रस्तुति .....धीरेन्द्र जी
    उन्मुक्त प्रवाह की मनोरंजक कविता

    उत्तर देंहटाएं
  33. बहुत खूब! बहुत सुंदर प्रवाहमयी रोचक प्रस्तुति...

    उत्तर देंहटाएं
  34. अच्छा शब्द सयोंजन किया है आपने इस रचना में हर बात का हर चीज़ से कोई न कोई महत्व ज़रूर होता है उस ही महत्व को दर्शाती खूबसूरत प्रस्तुति ....

    उत्तर देंहटाएं
  35. बहुत ही सुन्दर एवं सार्थक प्रस्तुति !

    उत्तर देंहटाएं
  36. देवों में इंद्र का ,काव्यांजली में धीरेन्द्र का
    सूट में पेंट का और पोस्ट में कमेन्ट का
    बहुत महत्व है ,
    बहुत शानदार कृति , बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  37. बढ़िया...हर चीज़ का कहीं न कहीं अपना एक महत्त्व होता है...

    उत्तर देंहटाएं
  38. बेहद ख़ूबसूरत और महत्वपूर्ण रचना|

    उत्तर देंहटाएं
  39. बहुत ही सुंदर व्याख्या है ... सुंदर रचना.......

    उत्तर देंहटाएं
  40. ब्लॉग में 'महत्व' की महिमा बखान का…………भी महत्व है……इस जगत में 'महत्व' के दृष्टिकोण से देखें तो सभी 'महत्वपूर्ण' हैं और "जगत मिथ्या है" सोचें तो सभी तुच्छ। 'महत्व' की महत्वपूर्ण रचना बहुत ही अच्छी लगी। बधाई एवम आभार!!!!

    उत्तर देंहटाएं
  41. इतने सारे शाब्दिक सबंध और इनके महत्व की रोचक प्रस्तुति ..आभार.

    उत्तर देंहटाएं
  42. just one word WOW
    so detailed and vivid description of differences...
    never read anywhere yet !!

    Lovely read.

    उत्तर देंहटाएं
  43. शानदार, मजेदार, जोरदार और असरदार रचना - बधाई.

    उत्तर देंहटाएं
  44. सुन्दर रचना ,शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  45. ---सुन्दर रचना....
    त्रिगुण में सत्व का,
    बातों में तत्व का,
    दुनिया में महत्व का....महत्व है...

    उत्तर देंहटाएं
  46. वाह वाह वाह वाह वाह वाह
    वाह वाह वाह वाह वाह
    वाह वाह वाह वाह'......SUNDER

    उत्तर देंहटाएं
  47. इसी तर्ज की कविताएं कई जगह पढीं हैं लेकिन आपकी कविता में अनूठापन है ।

    उत्तर देंहटाएं
  48. क्रिसमस की हार्दिक शुभकामनायें !
    मेरे नये पोस्ट पर आपका स्वागत है-
    http://ek-jhalak-urmi-ki-kavitayen.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  49. कविता में धीरेंद्र का .... महत्व होता है:)

    उत्तर देंहटाएं
  50. shabd nahi mil rahe hai prasansa ke liye....... excellent poetry sir
    sadar

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणियाँ मेरे लिए अनमोल है...अगर आप टिप्पणी देगे,तो निश्चित रूप से आपके पोस्ट पर आकर जबाब दूगाँ,,,,आभार,