सोमवार, 31 दिसंबर 2012

किस्मत हिन्दुस्तान की,

किस्मत हिन्दुस्तान की,


नये साल का पहला दिन,पहली किरण बिहान की,
खाते कसम बदलेगें हम,किस्मत हिन्दुस्तान की!

नव वर्ष में हम नया गढ़ेगें,मन में यह विश्वास है, 
  आज धरा भी मांग रही कुछ रचने को इतिहास है!   

नई सदी की युवा पीढी,दिल में लिए अरमान है,
शांत नही बैठेगें हम, जब तक शरीर में जान है! 

आज जरूरत पुनःदेश को,मिलकर एक जनून की,
फिर से लुट न पाए दामिनी,ऐसे सख्त क़ानून की!

रामराज्य आ जाए फिर से, नवनिर्माण जरूरी है, 
आओ मिलकर जोर लगाये, बस थोड़ी सी दूरी है! 

dheerendra singh bhadauriya,

50 टिप्‍पणियां:

  1. नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपकी प्रस्तुति अच्छी लगी। मेरे नए पोस्ट पर आपकी प्रतिक्रिया की आतुरता से प्रतीक्षा रहेगी। नव वर्ष 2013 की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ। धन्यवाद सहित

    उत्तर देंहटाएं
  3. नववर्ष कि हार्दिक शुभकामनायें !!

    उत्तर देंहटाएं
  4. आपको भी नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं!

    उत्तर देंहटाएं
  5. नूतन वर्षाभिनंदन मंगलकामनाओं के साथ.

    उत्तर देंहटाएं
  6. With prayers to God
    to made HER family
    able to bear the great pain

    with hope for the country
    to see the real change

    i wish everyone a very Happy New Year 2013.

    उत्तर देंहटाएं
  7. मंगलमय नव वर्ष हो, फैले धवल उजास ।
    आस पूर्ण होवें सभी, बढ़े आत्म-विश्वास ।

    बढ़े आत्म-विश्वास, रास सन तेरह आये ।
    शुभ शुभ हो हर घड़ी, जिन्दगी नित मुस्काये ।

    रविकर की कामना, चतुर्दिक प्रेम हर्ष हो ।
    सुख-शान्ति सौहार्द, मंगलमय नव वर्ष हो ।।

    उत्तर देंहटाएं
  8. रामराज्य आ जाए फिर से, नवनिर्माण जरूरी है,
    आओ मिलकर जोर लगाये, बस थोड़ी सी दूरी है!
    सुन्दर भाव रचना...
    आपको सहपरिवार नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ...
    :-)

    उत्तर देंहटाएं
  9. आपको भी नया साल बहुत बहुत मुबारक। और मेरी तरफ से शुभकामना।

    उत्तर देंहटाएं
  10. दिन तीन सौ पैसठ साल के,
    यों ऐसे निकल गए,
    मुट्ठी में बंद कुछ रेत-कण,
    ज्यों कहीं फिसल गए।
    कुछ आनंद, उमंग,उल्लास तो
    कुछ आकुल,विकल गए।
    दिन तीन सौ पैसठ साल के,
    यों ऐसे निकल गए।।
    शुभकामनाये और मंगलमय नववर्ष की दुआ !
    इस उम्मीद और आशा के साथ कि

    ऐसा होवे नए साल में,
    मिले न काला कहीं दाल में,
    जंगलराज ख़त्म हो जाए,
    गद्हे न घूमें शेर खाल में।

    दीप प्रज्वलित हो बुद्धि-ज्ञान का,
    प्राबल्य विनाश हो अभिमान का,
    बैठा न हो उलूक डाल-ड़ाल में,
    ऐसा होवे नए साल में।

    Wishing you all a very Happy & Prosperous New Year.

    May the year ahead be filled Good Health, Happiness and Peace !!!

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत सुन्दर इसी आशा के साथ नव वर्ष की शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं

  12. नब बर्ष (2013) की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।




    मंगलमय हो आपको नब बर्ष का त्यौहार
    जीवन में आती रहे पल पल नयी बहार
    ईश्वर से हम कर रहे हर पल यही पुकार
    इश्वर की कृपा रहे भरा रहे घर द्वार..

    उत्तर देंहटाएं
  13. आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति बुधवार के चर्चा मंच पर ।।

    उत्तर देंहटाएं
  14. बहुत खूब सर जी !
    आपको नववर्ष की शुभकामनाएं !

    उत्तर देंहटाएं
  15. रामराज्य आ जाए फिर से, नवनिर्माण जरूरी है,
    आओ मिलकर जोर लगाये, बस थोड़ी सी दूरी है!
    ...सकारात्मक प्रस्तुति.
    नववर्ष की शुभकामनाये..

    उत्तर देंहटाएं

  16. सुन्दर प्रस्तुति ।
    एक स्वस्थ, सुरक्षित और सम्पन्न नव वर्ष के लिए शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  17. नव वर्ष(2013)की हार्दिक शुभकामनायें .... !!

    उत्तर देंहटाएं
  18. नई सदी की युवा पीढी,दिल में लिए अरमान है,
    शांत नही बैठेगें हम, जब तक शरीर में जान है!

    बहुत अच्छी प्रस्तुति.

    नए सूर्योदय की प्रतीक्षा में ..आशावान हैं.
    क्योंकि उम्मीद पर दुनिया कायम है.
    नया साल आपको भी शुभ और मंगलमय हो.
    हार्दिक शुभकामनाएँ

    उत्तर देंहटाएं
  19. "आओ मिलकर जोर लगाये, बस थोड़ी सी दूरी है!"

    नव वर्ष 2013 की बधाई और हार्दिक शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  20. आपको भी नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  21. नव वर्ष की समस्त शुभकामनाएं ...

    उत्तर देंहटाएं
  22. सुन्दर प्रस्तुति, नव वर्ष 2013 की बधाई और हार्दिक शुभकामनाएं ......

    उत्तर देंहटाएं
  23. आओ मिलकर जोर लगाये, बस थोड़ी सी दूरी है!....sateek......

    उत्तर देंहटाएं
  24. सुन्दर अभिव्यक्ति...नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें!

    उत्तर देंहटाएं
  25. ऐसा ही हो,ऐसा ही हो ,ऐसा ही हो !!!
    बहुत-बहुत शुभ-कामनाएँ !

    उत्तर देंहटाएं

  26. आज जरूरत पुनःदेश को,मिलकर एक जनून की,
    फिर से लुट न पाए दामिनी,ऐसे सख्त क़ानून की!
    शुक्रिया आपकी सद्य टिप्पणियों का .आपके शुभ भाव का ,ज़ज्बात का .अतीत को झाड़ बुहार आगे देखने का आवाहन .

    उत्तर देंहटाएं
  27. प्रासंगिक लेखा जोखा देश के हालात का हरारत ज़ज्बात का .

    उत्तर देंहटाएं
  28. आपको सपरिवार नवबर्ष की हार्दिक बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  29. नये साल का पहला दिन ,बीते साल दास्ताँन की,
    खाते कसम बदलेगें हम,किस्मत हिन्दुस्तान की
    ऐसा ही हो हार्दिक बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  30. आशा है २०१३ ऐसे नए सख्त क़ानून ले के आएगा ...
    आपको २०१३ शुभ हो ...

    उत्तर देंहटाएं
  31. ♥(¯`'•.¸(¯`•*♥♥*•¯)¸.•'´¯)♥
    ♥♥नव वर्ष मंगलमय हो !♥♥
    ♥(_¸.•'´(_•*♥♥*•_)`'• .¸_)♥

    उत्तर देंहटाएं
  32. आपने सटीक विवेचना की है .प्रकृति में नर और मादा पुरुष और प्रकृति के अधिकार समान हैं इस लिए एक संतुलन है ,प्रति -सम हैं प्रकृति के अवयव ,दो अर्द्धांश एक जैसे हैं .आधुनिक मानव एक

    अपवाद है .एक अर्द्धांश को दोयम दर्जे का समझा जाता है उसके विरोध को पुरुष स्वीकार नहीं कर पाता ,उसकी समझ में नहीं आता है वह क्या करे लिहाजा वह प्रति क्रिया करता है .घर में नारी

    स्थापित हो तो बाहर समाज में भी हो .इस दिशा में हर स्तर पर काम करना होगा .बलात्कार जैसे जघन्य अपराध तभी थमेंगे .

    प्रासंगिक वेदना को स्वर दिया है .

    ये कविता नहीं दोस्त हमारे शहर का रोज़ नामचा है .

    सुबह भी की थी टिपण्णी आपकी पोस्ट पर स्पेम से निकालें भाई साहब .

    उत्तर देंहटाएं

  33. शुभ भाव शुभ भावना प्रेरित है यह रचना .आभार .

    उत्तर देंहटाएं

  34. शुभ भाव शुभ भावना प्रेरित है यह रचना .आभार .

    उत्तर देंहटाएं
  35. शुभ भावना प्रेरित सार्थक अभिव्यक्ति .आभार .

    उत्तर देंहटाएं
  36. आपने सटीक विवेचना की है .प्रकृति में नर और मादा पुरुष और प्रकृति के अधिकार समान हैं इस लिए एक संतुलन है ,प्रति -सम हैं प्रकृति के अवयव ,दो अर्द्धांश एक जैसे हैं .आधुनिक मानव एक

    अपवाद है .एक अर्द्धांश को दोयम दर्जे का समझा जाता है उसके विरोध को पुरुष स्वीकार नहीं कर पाता ,उसकी समझ में नहीं आता है वह क्या करे लिहाजा वह प्रति क्रिया करता है .घर में नारी

    स्थापित हो तो बाहर समाज में भी हो .इस दिशा में हर स्तर पर काम करना होगा .बलात्कार जैसे जघन्य अपराध तभी थमेंगे .

    प्रासंगिक वेदना को स्वर दिया है .

    ये कविता नहीं दोस्त हमारे शहर का रोज़ नामचा है .

    सुबह भी की थी टिपण्णी आपकी पोस्ट पर स्पेम से निकालें भाई साहब .

    उत्तर देंहटाएं
  37. नयी उम्मीदों के साथ नववर्ष की शुभकामनाएँ

    उत्तर देंहटाएं
  38. नव वर्ष में हम नया गढ़ेगें,मन में यह विश्वास है,
    आज धरा भी मांग रही कुछ रचने को इतिहास है!

    beautiful lines with graceful feelings.
    नववर्ष की शुभकामनाएँ

    उत्तर देंहटाएं
  39. प्रासंगिक और सार्थक अभिव्यक्ति****^^^^^**** नई सदी की युवा पीढी,दिल में लिए अरमान है,
    शांत नही बैठेगें हम, जब तक शरीर में जान है!

    आज जरूरत पुनःदेश को,मिलकर एक जनून की,
    फिर से लुट न पाए दामिनी,ऐसे सख्त क़ानून की!

    रामराज्य आ जाए फिर से, नवनिर्माण जरूरी है,
    आओ मिलकर जोर लगाये, बस थोड़ी सी दूरी है!

    उत्तर देंहटाएं
  40. नव वर्ष का बहुत सुन्दर सन्देश ....इस नूतन वर्ष की अशेष शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  41. बहुत सुन्दर और सार्थक रचना...
    नववर्ष की मंगलकामनाएं...

    विलम्ब हेतु क्षमा.
    सादर
    अनु

    उत्तर देंहटाएं
  42. नये साल का पहला दिन ,बीते साल दास्ताँन की,
    खाते कसम बदलेगें हम,किस्मत हिन्दुस्तान की! वाह क्या बात है

    नव वर्ष में हम नया गढ़ेगें,मन में यह विश्वास है,
    आज धरा भी मांग रही कुछ रचने को इतिहास है! लाजवाब

    नई सदी की युवा पीढी,दिल में लिए अरमान है,
    शांत नही बैठेगें हम, जब तक शरीर में जान है! वाह बेहतरीन

    आज जरूरत पुनःदेश को,मिलकर एक जनून की,
    फिर से लुट न पाए दामिनी,ऐसे सख्त क़ानून की! उम्दा सर

    रामराज्य आ जाए फिर से, नवनिर्माण जरूरी है,
    आओ मिलकर जोर लगाये, बस थोड़ी सी दूरी है! बहुत ही सुन्दर और प्रभावशाली

    सर बहुत ही सुन्दर प्रस्तुति है मेरी ओर से इस प्रभावशाली रचना हेतु हार्दिक बधाई स्वीकारें

    उत्तर देंहटाएं
  43. सुंदर संदेश...नववर्ष की शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  44. दूरी तो काफी है पर साथ मिलकर तय करेंगे तो दूरियाँ भी कम लगेंगी.. :)

    उत्तर देंहटाएं
  45. उम्दा प्रस्तुति |नव वर्ष पर हार्दिक शुभकामनाएं |
    आशा
    आशा

    उत्तर देंहटाएं
  46. बहुत सुन्दर और सार्थक रचना...
    नववर्ष की मंगलकामनाएं..

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणियाँ मेरे लिए अनमोल है...अगर आप टिप्पणी देगे,तो निश्चित रूप से आपके पोस्ट पर आकर जबाब दूगाँ,,,,आभार,