शनिवार, 29 अक्तूबर 2011

नाम करेगी ......


नाम करेगी

बेटी किसी के लिए बोझ नही
इस उद्देश्य को पूरा करने -?
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान
लक्ष्मी लाडली योजना और कन्यादान
योजनाओ के बाद लेकर आये है
बेटी बचाओ अभियान
इसके तहत बेटी वाले परिवारों को
सामाजिक,आर्थिक,भौतिक,
सुरक्षा मुहैया कराई जायेगी
इसमे आबास से लेकर पेंसन तक
बेटी वाले परिवारों को मिलेगी
माँ-बाप को चिंता नही
चेहरे पर मुस्कान खिलेगी
-----------------------

बेटी बोझ नही बरदान बनेगी
बेटी बेटा बनकर अहसान करेगी
बेटियाँ,बेटो,से किसी तरह कमतर नहीं,
कल्पना चावला बनकर भारत का नाम करेगी

०००००
dheerendra






21 टिप्‍पणियां:

  1. http://urvija.parikalpnaa.com/2011/10/blog-post_30.html

    my email id -
    rasprabha@gmail.com

    जवाब देंहटाएं
  2. कल 31/10/2011को आपकी यह पोस्ट नयी पुरानी हलचल पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
    धन्यवाद!

    जवाब देंहटाएं
  3. सुन्दर अभिवयक्ति | परन्तु ये सरकारी योजनाएं क्या सचमुच में ऐसी ही कल्याणकारी हो पायेंगी | इसे में संशय है | बहुधा ऐसा होता नहीं |

    जवाब देंहटाएं
  4. जब योजनाओं का दिलों तक होगा विस्तार
    तब बेटियों के ख्वाब भी होने लगेंगे साकार

    सुन्दर अभिव्यक्ति...
    सादर...

    जवाब देंहटाएं
  5. बहुत सही बातों को उजागर कीया है..
    मेरी बधाई स्वीकार करे!


    जीवन पुष्प
    www.mknilu.blogspot.com

    जवाब देंहटाएं
  6. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    जवाब देंहटाएं
  7. sahi kaha aapne aesa hi hai
    aur sada aesa hi ho
    saader
    rachana

    जवाब देंहटाएं
  8. बहुत सुन्दर एवं सटीक लिखा है आपने! प्रशंग्सनीय प्रस्तुती!
    मेरे नए पोस्ट पर आपका स्वागत है-
    http://seawave-babli.blogspot.com/

    जवाब देंहटाएं
  9. बेटी बोझ नही बरदान बनेगी
    बेटी बेटा बनकर अहसान करेगी....सच कहा..सुन्दर अभिव्यक्ति...आभार

    जवाब देंहटाएं
  10. बहुत सुंदर.. हमें बेटियों को वह प्यार और स्थान देना होगा जिसकी वे हक़दार हैं. सरकारी योजनाओं के इन्तेज़ार की जगह हमें सामाजिक सोच को बदलने का प्रयास करना होगा...

    जवाब देंहटाएं
  11. आदरणीय भाई धीरेन्द्र जी आपका ब्लॉग पर आना और हमारा उत्साहवर्धन करना बहुत अच्छा लगा |आभार |कविता बहुत सुन्दर है |

    जवाब देंहटाएं
  12. आदरणीय भाई धीरेन्द्र जी आपका ब्लॉग पर आना और हमारा उत्साहवर्धन करना बहुत अच्छा लगा |आभार |कविता बहुत सुन्दर है |

    जवाब देंहटाएं
  13. बहुत सुन्दर प्रस्तुति!
    छठपूजा की शुभकामनाएँ!

    जवाब देंहटाएं
  14. बेटी बोझ नही बरदान बनेगी.very nice.

    जवाब देंहटाएं
  15. अब ये आशा जागने लगी है के बेटियों का भविष्य उज्जवल होगा .....

    जवाब देंहटाएं

आपकी टिप्पणियाँ मेरे लिए अनमोल है...अगर आप टिप्पणी देगे,तो निश्चित रूप से आपके पोस्ट पर आकर जबाब दूगाँ,,,,आभार,