सोमवार, 17 अक्तूबर 2011

नई शुरुआत करे ......




नई शुरुआत करे..



आओ मिल कर कुछ काम करे
जग में भारत का नाम करे
मंदिर मस्जिद की बातें छोडो
आओं कुछ नई शुरूआत करे,

वृक्षों की हो रही कटाई घमासान
पृथ्वी का बढता जा रहा तापमान
प्रदुषण मुक्त वातावरण के लिए
पर्यावरण सुधार का अभियान रे

बढती जनसख्या और बेरोजगारी
नौकरी के लिए बढ़ती मारामारी
युवा भटक रहे -शिक्षित होकर
नये रोजगार सृजन का विचार करे

भ्रष्टाचार,आतंक की फैलती जाली
अफसर नेता मिटा रहे देश की लाली
इन सबको सबक सिखाने के लिए
जनलोकपाल कानून का ईजाद करे

गर्भ में मरती कितनी कन्याए
माँ,मजबूरी में सहती यातनाये
उस भूर्ण को दुनिया में लाने का
बेटी बचाओ, आवाज को बुलंद करे

हिंदू मुस्लिम और सिख ईसाई
हम सब आपस में है भाई-भाई
आओ हम सब मिलजुल करके
सुख दुःख आपस में आत्मसात रे

सबसे अच्छा सबसे न्यारा
सबसे प्यारा देश हमारा
काश्मीर से कन्याकुमारी तक
खुशियों की बरसात करे

आओ पहले हम शुरूआत करे
चलो जनता से दरख्वास्त करे
दुनिया में भारत को आगे लाना है
आइये,मिलकर कुछ नई शुरुआत करे
--------------------------------------
dheerendra







19 टिप्‍पणियां:

  1. बढती जनसख्या और बेरोजगारी
    नौकरी के लिए बढ़ती मारामारी
    युवा भटक रहे -शिक्षित होकर
    नये रोजगार सृजन का विचार करे
    भ्रष्टाचार,आतंक की फैलती जाली
    अफसर नेता मिटा रहे देश की लाली
    इन सबको सबक सिखाने के लिए
    जनलोकपाल कानून का ईजाद करे ...
    बहुत सुन्दर एवं सटीक पंक्तियाँ ! सच्चाई को आपने बड़े ही खूबसूरती से शब्दों में पिरोया है ! ज़बरदस्त प्रस्तुती!
    मेरे नए पोस्ट पर आपका स्वागत है-
    http://ek-jhalak-urmi-ki-kavitayen.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  2. एक अच्छी सोच से लिखी गई रचना। हमें एक अच्छी शुरुआत करनी ही चाहिए।

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत सुन्दर आह्वान ... नयी शरुआत होनी ही चाहिए ..

    उत्तर देंहटाएं
  4. aaderniy dheerendraji..sadar pranam..bartman samay ke sabhi chinta ke bishyon ko aapne apni sasakt rachna ke madhyam se bakhubi uthaya hai..aap mere blog per aaye ..hausla afjayee ki..sadar dhanyawad ke sath

    उत्तर देंहटाएं
  5. धीरेन्द्र जी,
    आपको न्यूज़ पेपर लिंक की ई-मेल भेज दी गयी है | कृपया चैक कर लें | किसी भी मुश्किल के लिए संपर्क करें

    उत्तर देंहटाएं
  6. apki rachana stya se judi.. sarthak
    aap mere blog par aaye sdhanyavaad....

    उत्तर देंहटाएं
  7. बहुत खूब ...स्वागत है !
    हार्दिक शुभकामनायें !

    उत्तर देंहटाएं
  8. bahut umda bhaavon ko prastut karti aapki kavita bahut achchi lagi.aap mere blog par aaye apni bahumoolya tippni di haardik aabhari hoon.aapke blog se jud rahi hoon,milte rahenge.

    उत्तर देंहटाएं
  9. वाह ...बहुत ही प्रेरक अभिव्‍यक्ति ।

    उत्तर देंहटाएं
  10. देश हित में नेक ख्यालात .....
    बधाई ...!!

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत अच्छे सन्देश देती रचना..

    दीपावली कि शुभकामनायें !!

    उत्तर देंहटाएं
  12. धीरेन्द्र जी,
    खुशी हुई न्यूज़ पेपर के लिंक आपने अपने ब्लॉग पर स्थापित कर लिए हैं | आप इस विजेट के एडिट मोड में जा कर जहाँ पर "font-size:14px;" लिखा है वहाँ पर 14 की जगह 12 लिख कर सेव कर दें | आपके ब्लॉग पर न्यूज़ पेपर लिंक का फॉण्ट साइज़ का हो जायेगा व उम्मीद है कि जैसे मेरे ब्लॉग पर न्यूज़ पेपर लिंक एक सार एक लाइन में क्रमबद्ध दिखाई दे रहे है आपके ब्लॉग पर भी उसी प्रकार से दिखाई देंगे | यदि फिर भी बात न बने तो फॉण्ट साइज़ को 11 कर देना |

    उत्तर देंहटाएं
  13. हिंदू मुस्लिम और सिख ईसाई
    हम सब आपस में है भाई-भाई
    आओ हम सब मिलजुल करके
    सुख दुःख आपस में आत्मसात करे

    सार्थक आवाहन। मिलजुल कर ही रहना होगा।

    उत्तर देंहटाएं
  14. मैंने दोबारा से आपको मेल कर दी है |

    उत्तर देंहटाएं
  15. इस टिप्पणी को एक ब्लॉग व्यवस्थापक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणियाँ मेरे लिए अनमोल है...अगर आप टिप्पणी देगे,तो निश्चित रूप से आपके पोस्ट पर आकर जबाब दूगाँ,,,,आभार,